BIKANER WEATHER
राजस्थान

Mevaram Jain – गैंगरेप का आरोपी पूर्व विधायक कांग्रेस से निलंबित, पॉक्सो सहित 18 धाराओं में केस दर्ज

Pugal News Pugal News

Mevaram Jain – गैंगरेप में फंसे पूर्व विधायक मेवाराम जैन को कांग्रेस ने निलंबित कर दिया गया है। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने शनिवार रात 12 बजे इसका आदेश जारी किया। इसमें उन्होंने लिखा- मेवाराम के अनैतिक कार्य से स्पष्ट होता है कि उन्होंने कांग्रेस के संविधान के खिलाफ आचरण किया है। पूर्व विधायक का महिला के साथ 5 जनवरी को भी सोशल मीडिया पर अश्लील वीडियो शेयर हुआ था।

दरअसल, मेवाराम के खिलाफ एक महिला ने 20 दिसंबर 2023 को जोधपुर में गैंगरेप का मामला दर्ज कराया था। पुलिस ने पॉक्सो सहित 18 धाराओं में मामला दर्ज किया था। पीड़िता का यह भी आरोप था कि जब मेवाराम विधायक था तो रसूख के दम पर उसने कार्रवाई नहीं होने दी। बल्कि मेवाराम ने मामला दर्ज कराकर पीड़िता को सेक्सटॉर्शन में गिरफ्तार करवा दिया था। अब पिछले दो दिन से कुछ अश्लील वीडियो सोशल मीडिया के जरिए सामने आ रहे हैं। जो बाड़मेर के पूर्व विधायक मेवाराम के बताए जा रहे हैं। इसके बाद एक्शन लेते हुए कांग्रेस ने मेवाराम को निलंबित कर दिया है।

विधायक था इसलिए महिला को सेक्सटॉर्शन में गिरफ्तार करा दिया

पीड़िता ने मेवाराम सहित 9 लोगों के खिलाफ जोधपुर के राजीव गांधी नगर थाने में एससी-एसटी, गैंगरेप, पॉक्सो सहित 18 धाराओं में मामला दर्ज करवाया था। साल 2022 में भी इस वीडियो से जुड़े तीन स्क्रीनशॉट सामने आए थे। उसके बाद 30 अक्टूबर 2022 को बाड़मेर कोतवाली थाने में पीड़िता के खिलाफ सेक्सटॉर्शन का मामला दर्ज कराया गया था।

डीएसपी और कोतवाल भी साजिश में आरोपी

अब 20 दिसंबर को जोधपुर के राजीव गांधी नगर थाने में मेवाराम, रामस्वरूप आचार्य, कोतवाल गंगाराम खावा, दाउद खां, बाड़मेर डीएसपी आनंद सिंह राजपुरोहित, बाड़मेर के प्रधान प्रतिनिधि गिरधरसिंह सोढ़ा, नगर परिषद उप सभापति सुरतानसिंह, प्रवीण सेठिया, गोपालसिंह राजपुरोहित समेत 9 लोगों के खिलाफ 18 धाराओं में मामला दर्ज किया है।

बस में मिले शख्स के जरिए विधायक से मिली थी

20 दिसंबर 2023 रात को महिला ने दर्ज रिपोर्ट में बताया थाकि वह 2021 में पचपदरा अपने पिता के इलाज के लिए जा रही थी। बस में उसकी मुलाकात रामस्वरूप से हुई। उसने दोस्ती की और फिर उसे किसी होटल में लेकर गया। वहां उसने नशे की गोलियां देकर उसका रेप किया।

रेप के दौरान उसने वीडियो और फोटो भी बना लिए और ब्लैकमेल करने लगा। रामस्वरूप ने उसकी मुलाकात पूर्व विधायक मेवाराम जैन से करवाई तो उसने भी रेप किया। उसके साथ संबंध बनाने के लिए होटल में ले जाने लगे। जैन और रामस्वरूप ने कई बार रेप किया। घर आते तो उसकी 15 साल की नाबालिग बेटी के साथ भी छेड़छाड़ करते थे।

एक साल पहले भी दर्ज हुआ था

रामस्वरूप ने बाड़मेर कोतवाली में 29 नवंबर 2022 को रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। इसमें रामस्वरूप ने शैलेंद्र अरोड़ा, भागीरथ गोदारा, भंवराराम और दो महिला सहित 6 जनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें आरोप लगाया था कि करीब दो माह पहले दयाल नाम का एक शख्स मेरे पास आया, उसने मुझे वीडियो दिखाए और मेरे से 5 करोड़ की डिमांड करने लगा। डिमांड पूरी नहीं होने पर वीडियो सार्वजनिक करने व रेप का झूठा मुकदमा दर्ज कराने की धमकी दी। आरोपी इससे पहले भी एक करोड़ रुपए मांग चुका था, लेकिन तब 50 लाख में समझौता हो गया था। इस मामले में पुलिस ने दो महिलाओं सहित 5 जनों को गिरफ्तार भी किया था।

पिछली 20 नवंबर को हुई थी ईडी की एंट्री

पिछले साल 20 नवंबर को ईडी कार्यालय जयपुर ने मेवाराम के खिलाफ पीएमएलए का मामला दर्ज किया था। लगभग 5 करोड़ रुपए के लेन-देन संबंधी शिकायत थी। कोतवाली थाने के ब्लैकमेल केस में 50 लाख रुपए के लेन-देन को भी ईडी ने आधार बनाया। इसके बाद 25 नवंबर को मेवाराम को पूछताछ के लिए ईडी ने नोटिस दिया। हालांकि मेवाराम ने हाईकोर्ट में अपील की थी कि विधानसभा चुनाव लड़ने के चलते राहत दी जाए। बाद में मेवाराम को चुनाव में हार झेलनी पड़ी।

मोबाइल बंद, ऑफिस पर लगा ताला

पार्टी की ओर से निलंबित करने पर पूर्व विधायक मेवाराम जैन का पक्ष जानने के लिए कॉल किया तो मोबाइल स्विच ऑफ आया। जैसलमेर रोड स्थित घर में बने ऑफिस पर ताला लगा हुआ था। वहां खड़े व्यक्ति से पूछा तो कहा कि पता नहीं साहब कहा पर है।

Advertisements
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
YouTube Channel Subscribe Now

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button