BIKANER WEATHER
BikanerChhatargarh

Chhatargarh News – तहसीलदार दीप्ति को किया सस्पेंड, जिस दिन एफआईआर हुई उसके अगले दिन बज्जू में मिली पोस्टिंग

Pugal News Pugal News

Chhatargarh News – बीकानेर के छत्तरगढ़ में करोड़ों रुपए की कृषि भूमि के गलत आवंटन में आरोपी तहसीलदार दीप्ति को जिला कलेक्टर ने निलंबित कर दिया है। दीप्ति सहित 19 सरकारी कर्मचारियों व अधिकारियों के खिलाफ बज्जू थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ था। जांच रिपोर्ट सामने आने के बाद दीप्ति को निलंबित किया गया है। खास बात ये है कि कुछ दिन पहले ही दीप्ति को बज्जू का तहसीलदार बनाया गया था। जिला कलेक्टर नमृता वृष्णि ने निलंबन के आदेश शनिवार शाम जारी किए।

छत्तरगढ़ तहसीलदार ने 13 मार्च को ही दीप्ति सहित 19 तहसीलदारों, नायब तहसीलदारों व पटवारियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। तब दीप्ति की पोस्टिंग नागौर के मकराना में थी, अगले ही दिन उसका तबादला बीकानेर के बज्जू में तहसीलदार पद पर हो गया। उसने 14 मार्च को ही बज्जू में ज्वाइन किया। इसके दो दिन बाद 16 मार्च को उसे सस्पेंड कर दिया गया है। आरोप है कि दीप्ति सहित कई तहसीलदारों ने पिछले पांच सालों में छत्तरगढ़ में कार्यरत रहते हुए भूमि आवंटन की गड़बड़ियों में कोई कार्रवाई नहीं की। इस मामले की जांच रिपोर्ट अब तैयार हो चुकी है। ऐसे में सभी दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की जा रही है।

बीकानेर कलेक्टर नमृता ने ही राज्य सरकार को पत्र भेजा था, जिसके आधार पर संबंधित कलेक्टर को कार्रवाई के निर्देश सरकार ने दिए हैं। दीप्ति बीकानेर में ही ट्रांसफर हो गई, इसलिए उनके निलंबन आदेश बीकानेर से ही जारी हो गए। राजस्व मंडल अध्यक्ष की ओर से जारी आदेश के अनुसार निलंबन काल में तहसीलदार दीप्ति का मुख्यालय राजस्व मंडल राजस्थान अजमेर निर्धारित किया गया है। उसके खिलाफ सीसीए नियम 16 के तहत विभागीय जांच कार्यवाही विचाराधीन है।

इन कर्मचारियों-अधिकारियों पर भी एफआईआर

छत्तरगढ़ में सरकारी भूमि बेचने के मामले में जिन 19 अधिकारियों व कर्मचारियों पर एफआईआर हुई है, उनमें दीप्ति के अलावा भी कई तहसीलदार शामिल है। एफआईआर में तहसीलदार सुरेंद्र जाखड़ (श्रीगंगानगर), तहसीलदार कुलदीप सिंह (सार्दुलशहर), नायब तहसीलदार राजेश (राजियासर), नायब तहसीलदार सरवरदीन (कोलायत), भू निरीक्षक मकसूद (सत्तासर), भू निरीक्षक मुकेश गोदारा (सत्तासर), भू निरीक्षक जसवीर (सत्तासर), भू निरीक्षक सुरेंद्र कुमार गोयल (श्रीगंगानगर), पटवारी सुशील मीणा (मोतीगढ़), वीरेंद्र सिंह (मोतीगढ़), अजेंद्र सिंह (मोतीगढ़), पटवारी जसवीर (मोतीगढ़), पटवारी देवराज (घेघड़ा),विकास पूनिया, अनीता शर्मा और पेमाराम सारण के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया।

Advertisements
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
YouTube Channel Subscribe Now

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button