BIKANER WEATHER
भारत

सरदार वल्लभभाई पटेल की जीवनी (Biography Of Sardar Vallabhbhai Patel In Hindi) | Sardar Vallabhbhai Patel Jivan Parichay

Pugal News Pugal News

सरदार वल्लभभाई पटेल, जिन्हें प्यार से “सरदार” के नाम से जाना जाता है, भारत के स्वतंत्रता संग्राम के एक प्रमुख नेता और भारत के पहले उप-प्रधानमंत्री और गृह मंत्री थे। वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वरिष्ठ नेता थे, जिन्होंने देश की स्वतंत्रता के संघर्ष और इसके राजनीतिक एकीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

सरदार पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 को गुजरात के नडियाद में एक किसान परिवार में हुआ था। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा स्थानीय स्कूलों में प्राप्त की और बाद में वकालत की पढ़ाई के लिए इंग्लैंड चले गए। वकालत की पढ़ाई पूरी करने के बाद वह भारत लौट आए और गुजरात के बोरसाद में अपना कानूनी अभ्यास शुरू किया।

सरदार पटेल भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल हो गए और महात्मा गांधी के सबसे करीबी सहयोगियों में से एक बन गए। उन्होंने गुजरात में किसानों के बीच अहिंसक नागरिक अवज्ञा आंदोलन का नेतृत्व किया और उन्हें अपनी हक की लड़ाई लड़ने के लिए प्रेरित किया।

1947 में भारत की स्वतंत्रता के बाद, सरदार पटेल ने देश के राजनीतिक एकीकरण के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने भारत के विभाजन के बाद पाकिस्तान से अलग हुए 565 रियासतों को भारत में विलय करने में कामयाबी हासिल की। इस उपलब्धि के लिए उन्हें “लौह पुरुष” के रूप में जाना जाता है।

सरदार पटेल ने भारत के गृह मंत्री के रूप में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने भारत की सीमाओं की रक्षा के लिए और देश में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए कई कदम उठाए। उन्होंने भारत-पाकिस्तान युद्ध (1947) के दौरान भी भारतीय सेना का नेतृत्व किया।

सरदार पटेल एक महान देशभक्त और दूरदर्शी नेता थे। उन्होंने भारत को एक अखंड और मजबूत राष्ट्र बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। उन्हें भारत के इतिहास में एक महान व्यक्ति के रूप में याद किया जाता है।

सरदार पटेल के कुछ प्रमुख उपलब्धियां इस प्रकार हैं:

* गुजरात में किसानों के बीच अहिंसक नागरिक अवज्ञा आंदोलन का नेतृत्व किया।

* भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में महात्मा गांधी के सबसे करीबी सहयोगियों में से एक।

* भारत के विभाजन के बाद पाकिस्तान से अलग हुए 565 रियासतों को भारत में विलय कराया।

* भारत के पहले उप-प्रधानमंत्री और गृह मंत्री।

* भारत की सीमाओं की रक्षा के लिए और देश में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए कई कदम उठाए।

* भारत-पाकिस्तान युद्ध (1947) के दौरान भारतीय सेना का नेतृत्व किया।

सरदार पटेल को भारत के “लौह पुरुष” के रूप में जाना जाता है और उन्हें देश के इतिहास में एक महान व्यक्ति के रूप में याद किया जाता है।

Advertisements
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
YouTube Channel Subscribe Now

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button